[ad_1]
bus accident

एक बस और मौत की दो कहानियां, नौकरी के पहले दो जिंदगियां खत्म

एक बस में एक युवक और युवती सफर कर रहे थे.

दोनों का एक-दूसरे से कोई परिचय नहीं था.

दोनों अपनी आंखों में पहली नौकरी के सपने लिए निकले थे.

दोनों को क्या पता कि उनका यह सफर आधे में ही खत्म हो जाएगा.

वर्धा जिले के अल्लीपुर में रहने वाली संजीवनी गोठे की इस हादसे में मौत हो गई.

संजीवनी की तरह वर्धा के तेजस पोकले भी पुणे में नौकरी ज्वाइन करने के लिए निकले थे.

तेजस और संजीवनी दोनों ही इंजीनियर पास आउट है और यह उनकी पहली नौकरी थी.

बुलढाणा के पास उनकी बस हादसे का शिकार हो गई.

इस हादसे में तेजस और संजीवनी सहित 25 यात्रियों की जिंदा जलने से मौत हो गई.

राजस्थान में यहां है 'मिनी गोवा'

[ad_2]