[ad_1]  bholenath temple

इस मंदिर में दर्शन करने से होती है पुत्र की प्राप्ति

हरियाणा के नूंह के फिरोजपुर अरावली पर्वत की वादियों में 5000 वर्ष पुराना झिरकेश्वर मंदिर अपनी भव्यता इतिहास को समेटे हुए है. 

पांडवों ने अज्ञातवास के दौरान यहां पर समय बिताया था.

लाक्षागृह से निकलकर जब पांडव विराटनगर राजस्थान जा रहे थे.

इस जगह पर उन्होंने एक गुफा में समय बिताया था. 

यहां पर पांडवों ने महादेव की तपस्या की.महादेव ने शिवलिंग के रूप में पांडवों को दर्शन दिया. 

उस समय यहां पानी नहीं था तो पानी के लिए वरदान दिया. 

उसी समय से यहां पर ज़मीन से अपने आप पानी निकलता है.

इसी पानी की वजह से पहाड़ में हरियाली ही हरियाली दिखाई  देती है. 

इसी पानी से धोबी समाज के लोग कपड़े धोकर अपनी आजीविका चलाते है.

सहारनपुर में इस समोसे का हर कोई है दीवाना

[ad_2]